Off-white Section Separator

शलजम की खेती कैसे करें, यहां जानें

शलजम एक ऐसी सब्जी है, जो जड़ों से प्राप्त होती है। इसकी जड़ों में विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में होती है। इसके पत्ते विटामिन ए, सी, के, फोलिएट और कैल्शियम का उच्च स्रोत होते हैं।

इसका सेवन कई प्रकार की बीमारियों के लिए लाभप्रद माना जाता है। किसान इसकी खेती कर कम समय और कम लागत में बंपर कमाई कर सकते हैं।

शलगम की खेती के लिए ठंडी जलवायु की आवश्यकता होती है।  खेती के लिए 20 से 25 डिग्री सेल्सियस तापमान उपयुक्त होता है।

शलगम खेती खासतौर पर पंजाब, बिहार, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और तमिलनाडु में की जाती है।

Thick Brush Stroke

मिट्टी

खेती के लिए दोमट वाली और रेतीली मिट्टी सबसे अच्छी होती है। मिट्टी का पीएच मान 5.5 से 7 के मध्य होना चाहिए।

Tilted Brush Stroke

उपज एवं पैदावार

यह बुवाई के 55 से 70 दिनों में तैयार हो जाती है।

इसकी पैदावार 200 से 250 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है।